New Delhi,Umashankar: Ayodhya Verdict Ram Mandir Babri Masjid Case पर सुप्रीम कोर्ट का सुप्रीम फैसला आने के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने अयोध्या मामले में सप्रीम कोर्ट के मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन देने के फैसले पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा है कि देश के मुस्लिमों को 5 एकड़ जमीन के लिए खैरात की जरूरत नहीं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला अमिट नहीं है।

ओवैसी ने कहा कि मेरी राय में पांच एकड़ जमीन नहीं लेनी चाहिए। मुस्लिम आवाम इतनी मजबूत है कि वह यूपी में कहीं भी जमीन के लिए पैसा इकट्ठा कर सकती है। उन्होंने कहा कि ‘हिंदुस्तान का मुसलमान इतना गया गुजरा नहीं है कि वो 5 एकड़ जमीन नहीं खरीद सकता।

हमें खैरात में जमीन नहीं चाहिए। हम अपनी लीगल राइट के लिए लड़ रहे थे। हमें किसी से भीख की जरूरत नहीं है।’ आपको बतादें कि प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने इस व्यवस्था के साथ ही राजनीतिक दृष्टि से बेहद संवेदनशील 134 साल से भी अधिक पुराने इस विवाद का पटाक्षेप कर दिया।