पांच अगस्त को अयोध्या में राम जन्मभूमि में होने वाले भूमिपूजन की तैयारियां जोर शोर से चल रही है। खबर है कि मेहमानों की लिस्ट बदली गयी है इसमें शामिल होने वालों की सूची में लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का नाम नही है। हांलाकि यह कहा जा रहा है कि इन दोनों नेताओं ने भूमिपूजन में शामिल होने से असमर्थता जतायी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भूमिपूजन के समारोह को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी आमंत्रित किया गया है. इसके अलावा अन्य कई गण्यमान्य लोगों को न्योता भेजा गया है.

यह न्योता श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के चंपत राय की ओर से भेजा गया है.भूमि पूजन के लिए मेहमानों की लिस्ट में फेरबदल किया गया है. इस मौके पर अब 170 लोगों को ही बुलाया जा रहा है. भाजपा के वरिष्ठ नेता एलके आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के नाम अब मेहमानों की सूची में नहीं है. सूत्रों के मुताबिक दोनों नेताओं ने आने में असमर्थता जतायी है. राम मंदिर आंदोलन से जुड़े नेताओं उमा भारती और कल्याण सिंह के नाम मेहमानों की लिस्ट में हैं. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत समेत संघ के दस लोगों को भूमि पूजन का न्योता भेजा गया है.