बंगाल में लगातार हो रही हिंसा को लेकर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने के कयास तेज हैं. ऐसा माना जा रहा है कि केंद्र सरकार पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन की पहल कर सकती है. जेडीयू ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन नहीं लगाया जाना चाहिए. आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के बीच यह कयास और खबर लगातार सामने आ रही है कि वहां राष्ट्रपति शासन लग सकता है। केन्द्र सरकार पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की पहल कर सकती है। जेडीयू महासचिव केसी त्यागी की प्रतिक्रिया इस मामले पर आयी है। उन्होंने कहा है कि पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की बीजेपी की राय से जेडीयू सहमत नहीं है और अगर वहां राष्ट्रपति शासन लगता है तो जेडीयू विरोध करेगी।

हांलाकि उन्होंने ममता बनर्जी को भी नसीहत दी है कि बंगाल में कानून व्यवस्था को स्थिति उन्हें दुरूस्त करनी चाहिए। इससे पहले जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने यह बयान दिया कि ममता बनर्जी को पश्चिम बंगाल को मिनी पाकिस्तान बनने से रोकना चाहिए।