नई दिल्ली: RBI आजकल बैंक के खाताधारकों पर मेहरबान है।अब आपको यह जानकर खुशी होगी कि बैंक अब अपने जीरो बैलंस वाले खाताधारकों को भी चेकबुक एवं अन्य वह सुविधाएं दे सकेंगे जो एक रेग्युलर सेविंग्स अकाउंट वाले ग्राहकों को देते हैं। RBI ने इसकी अनुमति दे दी। दरअसल, देश में नकदी लेनदेन कम करने के लिए कई तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। इसी के तहत, आरबीआई ने हाल ही में आरटीजीएस और एनईएफटी के जरिए फंड ट्रांसफर को निःशुल्क कर दिया है। आरबीआई के इस कदम से आम खाताधारकों को बड़ी राहत मिलेगी।

ये नए नियम 1 जुलाई से लागू होंगे।
प्राथमिक बचत बैंक जमा खाता से आशय ऐसे खातों से है जिसे शून्य राशि से खोला जा सकता है। इसमें कोई न्यूनतम राशि रखने की जरूरत नहीं है। इससे पहले नियमित बचत खाते जैसे खातों को ही अतिरिक्त सुविधा मिलती थी। अत: इन खातों में न्यूनतम राशि रखने की जरूरत होती है।
केंद्रीय बैंक ने यह भी साफ किया है कि अतिरिक्त सेवाओं की पेशकश को लेकर बैंकों को ग्राहकों से न्यूनतम राशि रखने को नहीं कहना चाहिए। बीएसबीडी खाता नियमों के तहत खाताधारकों को न्यूनतम राशि रखने की जरूरत नहीं है और उन्हें कुछ न्यूनतम सुविधाएं मुफ्त मिलती हैं।
इन सुविधाओं में एटीएम से एक महीने में चार बार निकासी, बैंक शाखा में जमा तथा एटीएम कार्ड शामिल हैं। इन खातों में एक महीने में जमा राशि की संख्या और मूल्य पर कोई सीमा नहीं है।