नई दिल्ली/ शाहिद खान। केंद्र में नए सरकार के गठन के बाद सरकारी नौकरियों की बंपर ओपनिंग होने जा रही है। मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल में सबसे पहले नौकरियों के मोर्चे पर काम करेगी। केंद्र सरकार की ओर से सभी मंत्रालयों और विभागों में खाली पड़े पदों को लेकर रिपोर्ट बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

सूत्रों के मुताबिक, करीब 75 हजार पद ऐसे हैं, जिन्हें तुरंत भरने की जरूरत महसूस हो रही है। इसके लिए सरकार स्टाफ सिलेक्शन कमीशन यानी एसएससी के जरिए इन पदों को भर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार बजट में असंगठित क्षेत्र में रोजगार के लिए बड़ी योजना का भी ऐलान कर सकती है। दरअसल, मोदी के पहले कार्यकाल में नौकरियों की कमी एक बड़ी चिंता बनकर सामने आई थी। कांग्रेस ने इसे चुनाव में बड़ा मुद्दा बनाया था और घोषणापत्र में एक साल में 22 लाख नौकरियां देने का वादा भी किया था।

सूत्रों का कहना है कि चुनाव के दौरान ही नीति आयोग ने अगली सरकार के लिए 100 दिनों का जो एजेंडा तैयार किया है, उसमें सबसे ज्यादा तरजीह खाली पदों को भरने और एजुकेशन रिफॉर्म्स को दी गई है।