नई दिल्ली: ईरान ने हरमुज जलडमरूमध्य में ब्रिटेन के झंडे वाले तेल के टैंकर को जब्त किया है। इसमें सवार 23 लोगों में 18 भारतीय हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि पकड़े गए नागरिकों की रिहाई के लिए प्रयास तेज कर दिये हैं।

वहीं ब्रिटेन ने एक बयान जारी कर इस बात की पुष्टि की कि ईरान ने उसके दो तेल के टैंकर को अपने कब्जे में लिया है। साथ ही ब्रिटेन ने ईरान को उनके तेल के टैंकर को न छोड़ने पर परिणाम भुगतने की चेतावनी भी दी है। इससे पहले ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स ने कहा था कि उन्होंने तेल के दो ऐसे टैंकर को अपने कब्जे में लिया है जिसपर ब्रिटेन का झंड़ा लगा हुआ था।

बता दें कि रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स की यह कार्रवाई ब्रिटेन की उस कार्रवाई के दो हफ्ते बाद आई है जब ब्रिटेन ने ईरान के टैंकर को कब्जे में लिया था। भारत सरकार लगातार ईरान सरकार के संपर्क में है ताकि सभी भारतीय बंधक को छुड़ाया जा सके।

आपको बतादें कि ईरान और ब्रिटेन के बीच संबंध समय से खराब चल रहे हैं। ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की आधिकारिक वेबसाइट Sepahnews के अनुसार, Stena Impero टैंकर Hormozgan Ports और समुद्री संगठन के अनुरोध पर रिवोल्यूशनरी गार्ड्स द्वारा जब्त किया गया, जब वह अंतरराष्ट्रीय समुद्री नियमों का सम्मान न करते हुए वह स्ट्रेट से गुजर रहा था।’