बिहार में एईएस यानि चमकी बुखार मासूमों के मौत बन कर आया है। इस जानलेवा बुखार की चपेट में आकर मरने वाले बच्चों की सख्या 180 के पार जा पहुंची है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मासूमों की मौतों को दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक बताया है। बिहार में ‘चमकीश् बुखार के कारण बच्चों की लगातार मौत पर दुख व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह स्थिति हमारी 70 साल की विफलताओं में से एक है और हम सभी को मिलकर इन विफलताओं से निबटने के समाधान खोजने होंगे.

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर राज्यसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने यह बात कही. बिहार में बच्चों की इन्सैफेलाइटिस के कारण मौत की घटनाओं का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह हम सभी के लिए ‘दुख और शर्मश् की बात है. उन्होंने कहा कि आज भी बच्चों का बुखार से मरना देश की 70 साल की विफलताओं में से एक है और हम सभी को मिलकर इन विफलताओं से निबटने के समाधान खोजने होंगे.