नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव लोकसभा चुनाव के बाद से लगातार गायब हैं। रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा अपने निजी कार्यों में व्यस्त हैं कल उनके बेटे की शादी थी। कांग्रेस ने महागठबंधन के दूसरे सहयोगियों से दूरी बना रखी है ऐसे में बिहार के पूर्व सीएम सह हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी महागठबंधन की ओर से सरकार पर हमले का मोर्चा संभाले हुए हैं। बिहार में चमकी बुखार एवं बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर हम पार्टी ने धरना दिया। इस धरना में पार्टी के सुप्रीमों एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी भी शामिल हुए।

इस दौरान उन्होंने बीजेपी और सीएम नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय पूरी तरह से फेल साबित हुए हैं। उन्हें इस्तीफा देना चाहिए और अगर वें इस्तीफा नहीं देते हैं तो सीएम नीतीश कुमार को इस्तीफा दें। उन्होनें सुशासन पर सवाल उठाते हुये कहा कि बिहार में पूरी तरह से विधि-व्यवस्था फेल हो चुकी है।मांझी ने आगे कहा कि बिहार में अब राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए।

उन्होनें कहा कि बिहार में लाॅ एंड आर्डर की स्थिति चिंताजनक है।अब नीतीश कुमार से शासन की बागडोर संभल नहीं रहा है। यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था खुद आईसीयू में चली गई है। अपराध की घटनाओं पर कोई लगाम नहीं है। अपराधियेां का मनोबल इतना बढ़ गया है कि वे अब दिन दहाड़े हत्या कर आराम से निकल जाते हैं। ऐसे में प्रदेश में राष्ट्रपति शासन के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है।