लोकसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने के बाद पूर्व सांसद सह राजद नेता अली अशरफ फातमी ने आज अपने हजारों समर्थकों के साथ जेडीयू का दामन थामन लिया। अली अशरफ फातमी को पार्टी में लेना जेडीयू के लिए फायदे का सौदा साबित हो सकता है क्योंकि फातमी जिस वोट बैंक की नुमाइंदगी करते हैं उसे कमोबेश हर राजनीतिक दल अपने पाले में रखना चाहता है। फातमी ने नीतीश को मुसलमानों का मसीहा बताया है।

फातमी ने कहा कि मुसलमानों का विश्वास सीएम नीतीश के प्रति काफी बढ़ा है क्योंकि उन्होंने मुसलमानों के लिए बहुत कुछ किया है. .फातमी ने कहा कि मुख्यमंत्री की योजनाएं अल्पसंख्यकों के लिए लाभदायक हैं. पूरे बिहार के अल्पसंख्यकों को नीतीश कुमार पर भरोसा है. मुख्यमंत्री ने उन्हें राज्य सरकार की योजनाओं को जनता के बीच ले जाने का निर्देश दिया है.गौरतलब है कि अली अशरफ फातमी सीमांचल के एक कद्दावर अल्पसंख्यक नेता हैं.