काशीपुर, उधमसिंह नगर : अस्पताल में डिलीवरी के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। इससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा काटा। मौत के बाद अस्पताल से चिकित्सक व कर्मचारी फरार हो गए। इस दौरान परिजनों ने एक चिकित्सक को पकड़ कर उसकी पिटाई कर दी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस किसी तरह चिकित्सक को उन लोगों से छुड़ाकर थाने ले गई। आई।

डिलीवरी के लिए सुमन को सोमवार को काशीपुर के मुरादाबाद रोड स्थित सेवा अस्पताल में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने परीक्षण कराने के बाद बताया कि बच्चा ऑपरेशन से होगा। नार्मल डिलीवरी से बच्चे को खतरा है। इस पर परिजनों ने ऑपरेशन संबंधी कागजातों पर दस्तखत कर दिए।

बताया जा रहा है कि सोमवार की शाम करीब 6:00 बजे ऑपरेशन किया गया। जिसमें महिला ने एक लड़के को जन्म दिया। लेकिन, कुछ देर बाद चिकित्सकों ने बताया गया कि पैदा होते ही बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद सुमन की भी तबीयत बिगड़ने लगी।

परिजनों का आरोप है कि सुमन की हालत भी गंभीर होने के बाद चिकित्सकों ने उन्हें नहीं बताया। रात भर रखने के बाद तड़के 3:00 बजे उसे रेफर कर दिया। परिजन उसे रामनगर रोड स्थित एक निजी अस्पताल में ले गए। जहां करीब चार बजे इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई।

इससे गुस्साए परिजनों ने सेवा अस्पताल पहुंचकर हंगामा करना शुरू कर दिया। यह देख चिकित्सक व कर्मचारी अस्पताल से फरार हो गए। परिजनों ने फरार हो रहे एक चिकित्सक को पकड़ कर उसकी जमकर पिटाई कर दी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह बामुश्किल चिकित्सक को छुड़ाकर थाने ले गई।