मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार के कारण मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस बीमारी से अब तक 84 बच्चे काल के गाल में समा चुके हैं। इस बीच हालात का जायजा लेने के लिए थे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन एसकेएमसीएच पहुंचे। सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि उनकी मौजूदगी में दो बच्चों की मौत हो गई।

रविवार को जब हर्षवर्धन अस्पताल का दौरा करने पहुंचे तो बीमार बच्चों के परिजनों ने अस्पताल में हो रही बदइंतजामी को लेकर जमकर गुस्सा निकाला। इस दौरान श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज में मरीज का भाई बोला, मेरा बड़ा भाई यहां पिछले दो महीनों से भर्ती है। मैं चाहता हूं कि उसका इलाज अच्छे से हो और जिन बच्चों की हालत खराब है उनका भी सही से ख्याल रखा जाए। वर्ना मुझे भी मार दिया जाए।